Jock itch ( दाद / ringworm )के कारण,उपाय,लक्षण,बचाव (in hindi)

पोस्ट शेयर करे

Jock itch ( दाद / ringworm ) के कारण,उपाय,लक्षण,बचाव (in hindi)Jock itch ( दाद / ringworm ) – Jock itch स्किन पर होने वाला एक प्रकार का फंगल इनफेक्शन है | jock itch  को हम Tinea cruris के नाम से भी जानते हैं |टीनिया एक प्रकार की फंगस होती है, जो कि हमारे स्किन पर होती है | jock itch को दाद या फिर रिंगवर्म इसलिए भी कहते हैं क्योंकि इसका आकार एक रिंग के जैसा होता है |

  • यह इनफेक्शन groin area ,thigh area और buttocks पर होता है |
  • शारीरिक मेहनत करने वालों जैसे खिलाड़ियों में सबसे ज्यादा आम है |
  • इसके अलावा यह पुरुषों और किशोर लड़कों में सबसे आम है।

यह भी पढ़े – दाद के प्रकार (फंगल इनफेक्शन/ रिंगवर्म )लक्षण ,कारण, बचाव

Jock itch ( दाद / ringworm ) के कारण 

इसके कई कारण हो सकते है जैसे –

  • जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या है ,और वह अगर स्टेरॉयड का सेवन ज्यादा करते हैं, तो उन्हें Jock itch (फंगल इनफेक्शन) होने का खतरा बढ़ जाता है |
  • फंगस मिट्टी में बीजों के रूप में विस्तारित अवधि (extended period)के लिए रहते हैं |और जब कोई जानवर या मनुष्य इस संक्रमित मिट्टी के संपर्क में आता है तो इस कारण यह Jock itch(फंगल इनफेक्शन) फैलने लगता है
  • इनफेक्शन आमतौर पर बच्चों के बीच भी फैल सकता है अगर कोई संक्रमित वस्तु उसके संपर्क में हो तो|
  • किसी भी जानवर अगर आप घर में पालते हैं जैसे कुत्ता बिल्ली से जो अगर उस फंगस से संक्रमित है और उसको छूने पर भी यह आपको यह इंफेक्शन हो सकता है |
  • अगर आप गीले हैं या फिर अगर आपको कोई चोट लगी हो और आप अगर आप संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आते हैं ,तो भी इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ सकता है
  • सार्वजनिक जगहों पर इंफेक्शन होने का खतरा भी बढ़ जाता है |
  • फंगल इनफेक्शन एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से फ़ैल सकता है अगर आप किसी संक्रमित व्यक्ति का टॉवल ,कंघा या कोई भी सामान इस्तेमाल करते हैं ,तो इससे आपको फंगल इनफेक्शन होने के खतरे बढ़ सकते हैं |
  • बारिश के मौसम में फंगल इनफेक्शन ज्यादा होता है ,इसलिए बारिश के टाइम आप साफ सफाई का ध्यान जरुर रखे |
  • अगर आप किसी पार्लर में या नाई की दुकान पर जाते है ,और अगर उनका कोई भी सामान में इन्फेक्शन है और उसी सामान को आप पर उसे करते है तो भी आपको फंगल इन्फेक्शन होने का खतरा बाद जाता है |
  • ये फंगल इन्फेक्शन groin area ,thigh area और buttocks पर होता है | क्योकि वंहा पसीना ज्यादा होता है और हवा नहीं लग पाती है |
  • अगर आप अपने अंडर गारमेंट्स को बहुत समय तक पहनते है या फिर बहुत ज्यादा टाइड अंडर वियर पहनते है तो भी आपको फंगल इन्फेक्शन हो जाता है |

Jock itch ( दाद / ringworm ) के लक्षण

  • जैसा की उपर बताया गया है की ये इन्फेक्शन मतलब Jock itch केवल groin area ,thigh area और buttocks पर ही होता है तो इसके लक्षण भी सिर्फ वहीं दिखाई देते है |
  • इसके लक्षण में ये रिंग के आकार का गोल,लाल या फिर हलके भूरे रंग का हो सकता है जैसे की चित्र में बताया गया है
  • इसके साथ ही इसमें बहुत खुजली, जलन और छोटे छोटे दाने भी हो सकते है |

Jock itch ( दाद / ringworm ) से बचाव 

1)Jock itch ( दाद / ringworm ) होने पर क्या न करे –

  1. जिन लोगों को भी फंगल फंगल इंफेक्शन होता है, हर किसी के द्वारा बताए गए क्रीम का यूज़ करते हैं,इन क्रीम का इस्तेमाल करने से भले ही आप के जलन और खुजली बंद हो जाए लेकिन इससे आपकी फंगल इनफेक्शन बिल्कुल भी ठीक नहीं हो सकता बल्कि इससे इंफेक्शन और बढ़ जाता है |
  2. फंगल इंफेक्शन होने पर कभी भी स्टेरॉयड क्रीम का यूज ना करें क्योंकि स्टेरॉइड क्रीम फंगल इन्फेक्शन के लिए नहीं होता है |स्टेरॉइड क्रीम आप की जलन और खुजली बंद कर सकते हैं ,लेकिन इनफेक्शन नहीं रोक सकते हैं इसीलिए फंगल इनफेक्शन होने पर एंटीफंगल का ही यूज करना लाभदायक होता है |आप किसी भी स्ट्राइड क्रीम का यूज़ बिल्कुल भी ना करें
  3. स्किन पर ज्यादा टाइम तक स्टेरॉयड लगाने से आपकी चमड़ी नाजुक और पतली हो जाती है और चमड़ी खिसक जाती है जिससे लाल रंग की  छोटी-छोटी लाइने बन जाती है जिसका इलाज बहुत मुश्किल है |
  4. और कुछ लोगों की आदत होती है कि एक बार डॉक्टर को दिखा दिया और अगर उन्हें फर्क पड़ जाए तो वह अपना इलाज बंद कर देते हैं लेकिन कुछ टाइम बाद उनको वही समस्या फिर से हो जाती है इसलिए आप अपना पूरा इलाज करवाएं ताकि दोबारा और समस्या आपको ना हो |
  5. अपनी मर्जी से कोई भी क्रीम का यूज ना करें और फंगल इनफेक्शन होने पर हमेशा डर्मेटोलॉजिस्ट को ही दिखाएं |
  6. इन्फेक्शन वाली जगह पर बिल्कुल भी खुजली ना करें क्योंकि खुजाने से इंफेक्शन और ज्यादा बढ़ता है | खुजली होने पर एंटी इचिंग दवाई का इस्तेमाल करें |
  7. सिंथेटिक कपड़े ना पहने ,इसके अलावा टाइट जींस ना पहने |टाइट कपड़े पहनने से हवा नहीं लगती है और पसीने के कारण इनफेक्शन और फैलता है |
  8. इसके अलावा आप गीले कपड़े भी ना पहने | अगर आप घर में रहते हैं ,तो इनरवियर का इस्तेमाल ना करें इन्फेक्शन वाली जगह पर हवा पहुंचने दे |
  9. अपने व्यक्तिगत सामान जैसे कपड़ों, तौलिया, साबुन, कंघी अपने परिवार के सदस्यों या दोस्तों के साथ शेयर ना करें 
  10.  रिंगवर्म होने पर over the counter (OTC)  दवाइयों का सेवन ना करें |इनमें से अधिकतर ओटीसी क्रीम में स्टेरॉयड होता है, जो खुजली से तेज राहत देता है ,लेकिन वे रिंगवार्म को बड़े क्षेत्र में फैलाते हैं |और नियमित उपचार अपर्याप्त भी बनाते हैं |
  11.  रिंगवर्म से छुटकारा पाने के लिए  आप किसी भी घरेलू उपाय जैसे कि लहसुन का पेस्ट  इसका इस्तेमाल बिल्कुल भी ना करें घरेलू उपाय आपकी स्किन को जला देगा और हमेशा के लिए निशान छोड़ देगा |

2) Jock itch ( दाद / ringworm ) होने पर क्या करे –

  1. फंगल इंफेक्शन होने पर आप sertaconazole 2%cream का यूज़ कर सकते हैं |
  2. sertaconazole एंटीफंगल क्रीम है |इस क्रीम को आपको दिन में दो बार लगानी है|
  3. अगर आप का इनफेक्शन बहुत कम है, या छोटे-छोटे पैच है ,तो इस क्रीम से ठीक हो जाएगा लेकिन अगर आप का इंफेक्शन ज्यादा हो गया है तो आपको फिर एंटीफंगल दवाइयों का सेवन करना होगा इसके लिए आप एक अच्छे डर्मेटोलॉजिस्ट से अपना चेकअप करवाएं |
  4. इसके अलावा आप पसीने से बचने के लिए dusting powder का इस्तेमाल करें |और जब भी घर से बाहर जाये ये पाउडर जरुर लगाये |
  5. हमेशा ढीले ,कॉटन के कपड़े ही पहने| साथ ही साथ आपके अंडर गारमेंट्स 100% प्योर कॉटन के होना चाहिए |
  6. रात में सोते समय पंखा ,कूलर चालू रखें ताकि आपको वहां पसीना ना हो | और पर्याप्त हवा मिल सके |
  7. दिन में दो बार नहाए |नहाने के लिए हल्का गुनगुना पानी ही रखे ज्यादा गर्म पानी से ना नहाए  | 
  8. ज्यादा गर्म पानी से नहाने से फंगस की ग्रोथ होने में मदद मिलती है | नहाने के बाद इन्फेक्शन वाली जगह पर आप ठंडा पानी डाल ले |
  9. बॉडी को सुखाने के लिए हमेशा सूखा और फ्रेश टॉवल ही यूज करें और कोई भी कपड़े पहनने से पहले अपनी बॉडी को पूरी तरह से सुखा लें |
  10. पैर की अंगुली के बीच, अंडर आर्म, जांघ ,स्तनों के नीचे, आपकी त्वचा के फोल्ड के लिए एंटीफंगल डस्टिंग पाउडर का उपयोग करें।
  11. अपने कपड़े ,टॉवेल बेडशीट आदि को गर्म पानी से धोएं और धूप में ही सिखाएं |
  12. हेल्दी फूड खाएं |शरीर के वजन को अपने हाइट के अनुसार ही रखें क्योंकि खराब भोजन और वजन  से आपकी प्रतिरक्षा क्षमता कमजोर हो जाती है | और आपको फंगल इनफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है |
  13. अगर आप डायबिटिक पेशेंट है, तो अपनी शुगर को समय-समय पर चेक करवाते रहें और उसे नॉर्मल ही रखें  |क्योंकि अगर आपकी शुगर कंट्रोल नहीं आएगी तो भी आपको फंगल इनफेक्शन होने का खतरा ज्यादा है |
  14. अगर आपके परिवार में किसी को भी फंगल इनफेक्शन है, तो उनसे बात करें और उन्हें डॉक्टर के पास जरूर ले जाएं |
  15. अगर आपके घर में जानवर है ,तो आप ध्यान रखें कि कहीं उसे rashes तो नहीं हो रहे हैं अगर ऐसा है ,तो आप तुरंत डॉक्टर से चेकअप करवाएं |
  16. यदि आप ऐसे कपड़े से बचने में असमर्थ हैं जो उस क्षेत्र को परेशान करते हैं, जहां इनफेक्शन है तो इसे एक पट्टी के साथ कवर करें |
  17. गर्मी और नमी फंगी बढ़ने में मदद करती है,इसलिए हमेशा अपनी त्वचा को सूखा और साफ बनाए रखें |

Jock itch ( दाद / ringworm ) का इलाज 

Jock itch ( दाद / ringworm ) को सफलतापूर्वक या मौखिक रूप से इस्तेमाल होने वाली एंटीफंगल दवाओं के साथ सफलतापूर्वक इलाज किया जा सकता है।जैसे – 

कुछ डॉक्टर कुछ परीक्षणों का अनुरोध करके रिंगवॉर्म के संदिग्ध निदान की पुष्टि कर सकते हैं | यदि आप या तो त्वचा बायोप्सी या फंगल संस्कृति प्राप्त कर रहे हैं, तो आपका डॉक्टर ब्लिस्टर से आपकी त्वचा का नमूना लेगा और इसे फंगस की उपस्थिति के लिए टेस्ट करने के लिए प्रयोगशाला में भेज देगा।यदि आपको KOH test मिल रही है, तो आपका डॉक्टर संक्रमित त्वचा के एक छोटे से क्षेत्र को खरोंच कर देगा और इसे पोटेशियम हाइड्रॉक्साइड (KOH) में रखेगा। KOH सामान्य कोशिकाओं को नष्ट कर देता है और फंगल कोशिकाओं को छूता है, इसलिए उन्हें सूक्ष्मदर्शी के नीचे देखना आसान होता है।

इसके अलावा कुछ docter इन्फेक्टेड स्किन में आपकी स्किन को देखने के लिए आपकी स्किन की जांच करके और संभवतः uv light ( ब्लैक लाइट )का उपयोग करके रिंगवार्म का निदान करेगा। फंगस uv light( काला प्रकाश ) के नीचे फ्लोरोसिस (चमकदार) होगा। यदि आप इन्फेक्टेड हैं, तो स्किन के क्षेत्र जहां फंगी स्थित है चमक जाएगा |

आपका Jock itch ( दाद / ringworm ) संक्रमण की गंभीरता के आधार पर आपका डॉक्टर विभिन्न दवाएं लिख सकता है। जैसे एंटीफंगल क्रीम, मलम, जेल, या स्प्रे के साथ इलाज किया जा सकता है।लेकिन आपको जैसे  पहले भी बताया है की आप स्टेरॉयड क्रीम का यूज़ न करे |अब आप सोच रहे होंगे की हमें कैसे पता चलेगा की कोन स्टेरॉयड है और कोन नहीं |तो हम आपको कुछ क्रीम के नाम बता रहे है जो अधिकटर इस्तेमाल की जाती है |ये 4 ऐसे steroid है जो क्रीम में पाए जाते है |

  1. Clobetasole
  2. Baclomethasone 
  3. Betamethasone
  4. Floucocinilone

अब हम ऐसी कुछ क्रीम के नाम बताते है जिनमे Clobetasole steroid पाया जाता है |

  • Dermikem OC Cream                                              
  • Fourderm
  • Neoclobenate gm Cream
  • Clobet gm Cream
  • Laboderm-OC Cream
  • Clobenate Gm Cream
  • Lobate Gm
  • Clostar Gm Cream
  • Dermiford Cream
  • Panderm + Cream
  • Candid Total Plus Cream
  • clob gm cream

अब कुछ Baclomethasone steroid वाली क्रीम 

  • Neobecmet-CG Cream
  • Cloben G Cream
  • Surfaz-Sn Cream
  • Candid-B Cream
  • Cortiderm G Cream
  • Nuforce gm Cream
  • Clocip-B Cream
  • Candiderma Plus Cream
  • KETOSCALP

अब Betamethasone steroid 

  • Betnovate-N Cream
  • Betnovate Cream

अब Floucocinilone steroid 

  • Cipro-Cf Skin Cream

इसके अलावा और भी बहुत क्रीम है जिनमे स्टेरॉयड पाया जाता है | अब आप समझ ही चुके है की स्टेरॉयड क्रीम फंगल इन्फेक्शन के लिए नहीं होता है इसलिए आप किसी और की बातो में आकर ऐसी कोई भी क्रीम न लगाये जिससे आपकी परेशानी और बढ़ जाये |

Review Summary
Review Date
Reviewed Item
Article
Rating
51star1star1star1star1star
पोस्ट शेयर करे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *