हार्ट अटैक(दिल का दौरा) के 9 लक्षण, 3 कारण, 10 इलाज, 23 बचाव

पोस्ट शेयर करे

हार्ट अटैक के 9 लक्षण, 3 कारण, 10 इलाज, 23 बचाव (1)हार्ट अटैक एक ऐसी खतरनाक समस्‍या है,जो गंभीर चिंता का विषय है।यह बात सभी मानते हैं,कि स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएं किसी भी उम्र के व्यक्ति को आ सकती है|आजकल कम उम्र वाले लोगो को भी हार्ट संबधी रोग हो रहे हैं।जो अपने स्वास्थ्य को नज़रअंदाज़ करते हैं| ये समस्याएं उन्हीं को आती हैं|

छोटा-सा हार्ट ( दिल) हमारे शरीर का सबसे अहम अंग है। क्योंकि दिल से ही तो हमारी धड़कनें चलती है|दिल की धड़कन हमारे सेहत की सलामती को दर्शाती है| लेकिन अगर दिल कमजोर हो जाए तो, ये हमारे लिए कई तरह की परेशानियों की शुरुआत कर देता है| और अगर ये काम करना बंद कर दे,तो हमारी जिन्दगी खत्म हो जाती है|इसलिए दिल की देखरेख बहुत जरूरी है। 

जब  हमारे शरीर में हार्ट तक खून को पहुँचने में रुकावट आती है, तब हार्ट अटैक (दिल का दौरा )पड़ने की संभावना बढ़ जाती है| और अगर समय रहते इस रुकावट को दूर ना किया जाए तो, ये एक गंभीर रोग बन सकता है|जिससे हमारी जान भी जा सकती है|आपकी जीवनशैली में ऐसी कई चीजें होती हैं,जो आपके हार्ट की सेहत पर बुरा असर डालती है

आइये जानते है, किआखिर वो कोनसी वजह या कारण है, जिससे हार्ट अटैक (दिल की बीमारी) का खतरा होता है|

हार्ट अटैक (दिल का दौरा )आने के कारण:

  1. हार्ट  की बीमारी का सबसे बड़ा कारण हाई ब्लड प्रेशर, डायबीटीज और कॉलेस्ट्रोल है|देश में हार्ट  के मरीजों की बड़ी तादाद की वजह यह है कि लोग ब्लड प्रेशर, डायबीटीज और कॉलेस्ट्रोल की रेग्युलर जांच नहीं कराते|
  2. हार्ट  की बीमारी का दूसरा सबसे बड़ा कारण तनाव है।कई बार काम के अत्याधिक दबाव की वजह से तनाव उत्पन्न हो जाता है। इस तनाव से आपके हार्ट  पर काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।
  3. तनाव के चलते लोग अपनी डाइट पर बिल्‍कुल भी ध्‍यान नहीं देते है|तनाव से ही हाई ब्लड प्रेशर होता है|इसके अलावा और भी कई कारण हो सकते है|जो हार्ट  की बीमारी के लिए जिम्मेदार है|पर आप परेशां मत होइए, क्योकि हम आपको कुछ ऐसे उपाय और सावधानिया बतायंगे, जिससे आप इस बीमारी से बच सकते है|

यह भी पढ़े – डायबिटीज में आँखों की इन बीमारियों का अधिक खतरा

यह भी पढ़े – शुगर डायबिटीज के प्रकार- Type1 ,Type2 और Gestational डायबिटीज

यह भी पढ़े – डायबिटीज (शुगर/मधुमेह) के 10 कारण, 38 उपाय

एह भी पढ़े – डायबिटीज (शुगर/मधुमेह) के लक्षण,कारण,नुस्खे,बचाव व उपाय

हार्ट अटैक (दिल का दौरा )आने के लक्षण:

  1. शुरूआत में उल्टी आना|
  2. सीने में तेज दर्द|
  3. कंधें, गर्दन और पीठ दर्द|
  4. सांस फूलना|
  5. चक्कर आना|
  6. अशांत मन और बेचैनी|
  7. पसीना जादा आना
  8. पैरो में सुजन आना|
  9. घबराहट होना|

Note – स्वास्थ्य, सेहत व सौंदर्य से संबंधित अनेक उपाय रोजाना अपने Whatsaap पर प्राप्त करे. ग्रुप जॉइन करे –
https://chat.whatsapp.com/ARJMSzqpnpj6MJsdRox2l5

हार्ट  को मजबूत रखने के क्या करे:

1)नट्स का सेवन करे:

नट्स आपके हार्ट के लिए काफी अच्छा होता है| तथा इसका निरंतर रूप से सेवन करने से काफी आसानी से आपके दिल को स्वस्थ रखा जा सकता है|ड्राई फ्रूट्स, नट्स और सीड्स जैसे बादाम, अखरोट, पिस्ता, मूंगफली, खरबूजा-तरबूज के बीज आदि भी सेहत के लिए अच्छे हैं|

अखरोटों का सेवन करने से आपके दिल को काफी अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त होता है। क्योंकि अखरोट में ओमेगा 3 फैटी एसिड की मात्रा होती है| अतः इससे आपको हार्ट  में होने वाली जलन से काफी राहत मिलती है |एवं धमनियों की किसी भी प्रकार की समस्या भी आसानी से दूर हो जाती है|

2) संतुलित हेल्थी आहार:

पौष्टिक तत्व से भरपूर आहार लेने से हमारा शरीर तो बेहतर रहता ही है, साथ ही तनाव भी कम होता है। इससे हमारा हार्ट भी सेहतमंद रहता है। हेल्‍दी डाइट या स्‍वस्‍थ खानपान, आपके हार्ट  को स्‍वस्‍थ रखने के साथ-साथ हार्ट अटैक  की संभावना को कम करता है। बस आपको कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा कम करनी होगी।

आप चाहें तो डेयरी उत्‍पादों से तैयार कोलेस्‍ट्रॉल युक्‍त चीजों के बजाय ऑर्गेनिक उत्‍पादों को ले सकते हैं। इसके अलावा अत्‍याधिक शर्करा और प्रोसेस्‍ड फूड, जो बाजार में रेडिमेड उपलब्‍ध होते हैं, उनसे दूरी बनाए रखें। हरी सब्जियों, फलों और सलाद को अपने भोजन में ज्‍यादा से ज्‍यादा शामिल करें| और अधिक तेल और मसालेदार भोजन को कम कर दें।

3)धूम्रपान से दूर रहें:

सिगरेट में मौजूद निकोटिन दो ऐसे हार्मोन के निर्माण को उत्तेजित करता है,जो दिल की धड़कन और ब्लड प्रेशर को बढ़ा देता है।धूम्रपान से रक्त का थक्का बनने की प्रवृत्ति बढ़ जाती है| थक्का बनने से धूम्रपान करने वाले व्यक्ति में हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ जाता है।

धूम्रपान हार्ट  सहित शरीर के लगभग हर अंग को नुकसान पहुंचाता है। इसलिए यदि आपको धूम्रपान का सेवन करने की आदत है, तो आप इसे बिलकुल त्‍याग दें। यह फेफड़ों और हार्ट  को बुरी तरह प्रभावित करता है|

4)तनाव को रखें दूर:

तनाव सबसे ज्यादा हार्ट की बीमारियों का कारण बनता है। अपनी जीवनशैली में बदलाव लाकर आप तनाव को खुद से दूर कर सकते है| इसके लिए रोज कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लें। मानसिक तनाव हार्ट अटैक की संभावना को कई गुना बढ़ा देता है। तनाव लेने से बचें और खुद को हमेशा खुश और ऊर्जावन बनाए रखें। तनाव देने वाली बातों और लोगो से दूरी बनाए रखें, यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जरूरी है।

5)शराब का सेवन न करे:

शराब का सेवन खून में फैट का स्तर बढ़ाता है, जिसके फलस्वरूप ब्लड प्रेशर बढ़ता है| और दिल भी प्रभावित होता है|ज्यादातर देखने में आया है कि जो लोग शराब पीते हैं तो वे सिगरेट भी जरूर पीते हैं। अगर कोई व्यक्ति इन दोनों का सेवन करता है तो उसमें हार्ट अटैक का खतरा और भी बढ़ जाता है।इसलिए शराब से परहेज ही ठीक रहेगा।

6)हल्दी का सेवन है जरूरी:

खासकरहार्ट  की सेहत के लिए नियमित रूप से हल्दी का सेवन बहुत जरूरी है। हल्दी हमारे शरीर में खून का थक्का नहीं बनने देती| क्योंकि यह खून को पतला करने का काम करती है। हल्दी में हल और दी है यानी समाधान देने वाली। जो हर समस्या का समाधान दे उसे हल्दी कहा गया है|

7)फिश का करे सेवन:

फिश में भरपूर्ण मात्रा में ओमेगा एसिड्स होते है |जो दिल के मरीज़ के लिए फायदेमंद होते है। इसमें ऐसे और भी बहुत से तत्व होते है, जो दिल की बीमारी और दिल से सम्बंधित अन्य रोगो से होने वाले खतरे को भी रोक लेते है। ज्यादा नहीं, कम से कम हफ्ते में एक बार तो फिश का सेवन जरूर करना चाहिए|

8)वजन को नियंत्रित रखे:

वजन के ज्यादा होने पर भी आपको हार्ट अटैक  हो सकता है| वजन का बढ़ना ऐसी समस्या है ,जो कई सारी बीमारियों को जन्म देती है| वजन के बढ़ने पर होनी वाली समस्याए जैसे मोटापा, डायबीटीज आदि के इलाज के लिए तो आपको समय मिल जाता है| लेकिन हार्ट अटैक ऐसा रोग हे जो आपको कभी भी समय नहीं देता है|इसलिए अपना वजन ज्यादा न बढ़ने दे|

यह भी पढ़े – मोटापा कैसे कम करें -10 घरेलु उपाय (हिंदी में)

9) दिल के रोगी का ज्यादा ताकतवर दुश्मन रेड मीट:

रेड मीट हार्ट ( दिल) के लिए  खतरनाक है| मांसाहारी भोजन (मछली को छोड़कर) में एक तो फैट की भारी मात्रा होती है|  दूसरे इसमें कोलेस्‍ट्रॉल  भी भरपूर होता है|मांसाहार एसिडिटी को भी बढ़ाता है, जो अंत में दिल को ही तकलीफ देती है|इसलिए इसका सेवन करने से बचे|

10)व्यायाम है बहुत जरुरी:

बीमारी चाहे कोई भी हो या न हो हमें व्यायाम तो करना ही चाहिए| क्योकि व्यायाम करने से हमारा शरीर अच्छा या स्वस्थ ही नहीं रहता| बल्कि मानसिक संतुलन भी अच्छा बना रहता है|जिससे हमारी टेंशन कम होती है|केवल व्यायाम ही ऐसा तरीका है| जिससे आप बहुत सी बीमारियों से बच सकते है| या फिर ये कहे की अगर व्यायाम करेंगे तो बीमारी पास ही नहीं आएगी|इसलिए आपको रोज सुबह कम से कम आधे घंटे व्यायाम करना चाहिए|

हार्ट अटैक को रोकने के लिए 23 बचाव:

  1. लौकी की सब्जी या जूस का रोजाना सेवन आपको हार्ट अटैक के खतरे से बचाता है। इसके अलावा इसे कच्चा खाना भी दिल की बीमारियों के लिए फायदेमंद होता है।
  2. कच्ची गाजर या इसके जूस का सेवन दिल के लिए बहुत फायदेमंद है। रोजाना गाजर का रस पीने से दिल की बीमारी से बच  सकते है|
  3. अर्जुन पेड़ की छाल को पानी में डालकर उसे उबाल ले|उसमे दूध डालकर उसकी चाय भी सकते है|इस उपाय को आयुर्वेद में बहुत कारगर माना गया है|
  4. अश्वगंधा यह औषधि भी हार्ट ( दिल) की बीमारियों के इलाज में कारगर सिद्ध है। यह तनाव को दूर करने में मददगार है। इससे दिल को कोशिकाओं को मजबूती मिलती है और दिल की बीमारियाँ दूर रहती है।
  5. लहसुन में विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने का गुण होता है, जिससे यह हार्ट को सुरक्षा प्रदान करता है। लहसुन के नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होता है। लहसुन खाने से खून का जमाव नहीं होता है| और हार्ट अटैक होने का खतरा कम हो जाता है|लहसुन और शहद के मिश्रण को खाने से दिल तक जाने वाली धमनियों में जमा वसा निकल जाता है, जिससे ब्‍लड सर्कुलेशन ठीक तरह दिल तक पहुंचता है|
  6. स्वस्थ  हार्ट (दिल )के लिए विटामिन सी युक्त खाना जैसे संतरा, नींबू और आंवला आदि को अपने डाइट चार्ट में शामिल करें। अपनी एंटी-ऑक्सीडेंट गुण के कारण यह साबित हो चुका है, कि विटामिन सी दिल की बीमारियों को कम करने में मददगार है।
  7. पपीता का सेवन आपको ब्लड प्रेशर,और कॉलेस्ट्रोल कम करने में मदद करता है,क्योकि पपीते में फाइबर होता है|
  8. फिजिकल वर्कआउट वसा के स्‍तर को कम करने के लिए बेहद जरूरी है। इसके अलावा नियमित एक्‍सरसाइज आपको फिट रखने में भी मदद करेगी।
  9. कम से कम 7-8 घंटे की भरपूर नींद ले |कम सोने से चिंता, तनाव जैसी कई समस्याएं हो जाती है। इससे दिल की सेहत पर बहुत बुरा असर पड़ता है।
  10. ज्यादा से ज्यादा हंसे और सदा मुस्कुराते रहें।सबसे बढ़कर, सकारात्मक सोचें और स्वस्थ रहें।
  11. रोज़ाना ग्रीन या ब्लैक टी पियें।जो कॉलेस्ट्रोल को कम करने में मदद करती हैं।
  12. ज्यादा कार्बोहाइड्रेट्स वाली चीजें जैसे कि आलू, अरबी और शकरकंदी आदि भी कम खाने चाहिए।
  13. ताजे फलों का सेवन अधिक से अधिक करे|
  14. एक चम्मच चवनप्राश रोजाना खाए|
  15. फास्ट फूड और जंक फूड का सेवन न करे|
  16. नमक का सेवन कम करें|
  17. ज्‍यादा देर बैठने से बचें|
  18. कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण रखें|
  19. ब्लड प्रेशर को अनदेखा न करें|
  20. शुगर पर रखें नजर|
  21. सॉफ्ट ड्रिंक को कहे अलविदा|
  22. अधिक वसायुक्त भोजन करने से बचे|
  23. नियमित रूप से जाँच करवाए|
Review Summary
Review Date
Reviewed Item
Article
Rating
51star1star1star1star1star
पोस्ट शेयर करे

1 thought on “हार्ट अटैक(दिल का दौरा) के 9 लक्षण, 3 कारण, 10 इलाज, 23 बचाव”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *