सर्दी खांसी और गले में खराश के आयुर्वेदिक 14 घरेलू उपाय (in Hindi)

पोस्ट शेयर करे

सर्दी खांसी और गले में खराश के आयुर्वेदिक 14 घरेलू उपाय सर्दी खांसी और गले में खराश के घरेलू उपाय– मौसम के बदलाव के कारण कई लोग सर्दी खांसी जुकाम और गले में खराश से ग्रसित हो जाते हैं |और यह एक आम बात है| समस्या तब पैदा होती है ,जब यह रोग काफी लंबे समय से चल रहे हो और ठीक नहीं हो पा रहे हो |कभी-कभी तो इनमे दवाइयां भी असर नहीं करती है| और लंबे समय तक सर्दी खांसी चलती रहती है| अधिकतर मौसम परिवर्तन के समय ये तकलीफ सताती है। सर्दी के मौसम में इसके बेक्टिरिया और वाइरस तेजी से फैलते है, जो परेशानी का कारण बन जाते है।जिन लोगों की रोग प्रतिरोध शक्ति कम होती है, उन्हें बार बार जुकाम हो जाता है। अंग्रेजी दवा से जुकाम ठीक नहीं होपाता । किसी किसी को एलर्जी के कारण भी जुकाम हो जाता है।सुबह उठने के बाद जुकाम हो जाना एलर्जी के कारण हो सकता है|

यह भी पढ़े – बदलते मौसम में मौसमी बुखार,एलर्जी,इंफेक्शन से बचाव

सर्दी खांसी और गले में खराश-

दवाइयों के साथ साथ हम आपको सर्दी खांसी और गले में खराश के कुछ आसान से घरेलू उपाय को बता रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप इन से छुटकारा पा सकते हैं|

1)तुलसी,अदरक,गिलोय:

सर्दी खांसी और गले में खराश के लिए तुलसी के 3 से 4 पत्तों का रस और थोड़ा सा अदरक का रस और गिलोय रस इन को अच्छे से मिक्स करके आपको एक चम्मच शहद के साथ लेकर इसे धीरे-धीरे करके चाटना है |इसे चाटने के बाद 1 घंटे तक कुछ नहीं खाना है |

यह भी पढ़े – सिर दर्द ( Headache ) का इलाज , घरेलु उपाय ,कारण

2)काली मिर्च:

अगर आप को सूखी खांसी हो रही है, तो आप छह से सात काली मिर्च के दाने गाय के घी में सेक लेना है |उस दानों को लेकर मुंह में लेकर चूसना है |इसे खाना खाने के बाद लेना है| चूसते वक्त पानी का प्रयोग ना करें और अगर आपको बलगम वाली खांसी हो रही है, तो आप केवल काली मिर्च का ही प्रयोग करें इस प्रयोग से आपको बहुत ही जल्द राहत मिलेगी|

3)सोंठ, पीपल, काली मिर्च:

सर्दी खांसी और गले में खराश के लिए सोंठ,पीपल और काली मिर्ची इन तीनों को मिक्स करके 1 ग्राम शहद के साथ चाटने से आपको सर्दी खांसी जुकाम गले की खराश से बहुत जल्दी आराम आने लगेगा|

4)हल्दी वाला दूध:

यह नुस्खा ना सिर्फ बच्चों बल्कि बड़ों के लिए भी कारगर साबित होता है। हल्दी एंटी वायरल और एंटी बैक्टेरियल होता है,जो सर्दी जुकाम से लड़ने में काफी मददगार होता है।हल्दी एक एंटीबायोटिक है,इसीलिए यह सर्दी, खांसी मैं बहुत जल्दी आराम दिलाती है| इसलिए आपको दूध में हल्दी डालकर अच्छे से उसे गर्म करना है जब गरम हो जाए ठंडा होने पर पीले| इससे भी आपको बहुत आराम मिलेगा |

5)सर्दी खांसी और गले में खराश के लिए तुलसी:

समान्‍य सर्दी और खांसी के के लिए बहत की कारगर घरेलू उपाय है| तुलसी यह ठण्ड के मौसम में लाभदायक है। तुलसी में काफी औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो  सर्दी,जुकाम और फ्लू आदि से बचाव में कारगर हैं। तुलसी की पत्तियां चबाने से सर्दी और फ्लू दूर रहता है। खांसी और जुकाम होने पर इसकी पत्तियां पीसकर पानी में मिलाएं और काढ़ा तैयार कर लें। इसे पीने से आराम मिलता है।

6)गुनगुना पानी से कुल्ला करना:

गुनगुना पानी में नमक डालकर कुल्ला करना फायदेमंद होता हैं |गुनगुना पानी के साथ नमक जब गले से होकर जाता हैं, तो सुजन कम होती हैं जिससे गले में दर्द तथा खराश में राहत मिलती हैं |और सर्दी ठीक होने लगती है|

7)नींबू और शहद:

नींबू और शहद के इस्तेमाल से सर्दी और जुकाम में फायदा होता है। दो चम्मच शहद में एक चम्मच नींबू का रस एक ग्लास गुनगुने पानी या फिर गर्म दूध में मिलाकर पीने से इसमें काफी लाभ होता है।

यह भी पढ़े – नींबू के फायदे और नुकसान-15 जबरदस्त तरीका,सही समय

8)तुलसी,पीपल,लौंग:

सर्दी , जुकाम और हल्का बुखार होने पर 5 -6 तुलसी के पत्ते ,एक लौंग ,एक पीपड़ खरल में बारीक कूट पीस ले। इसे आधे कप पानी में मिलाकर पी लें। बाद में आधा गिलास पानी पी लें। सुबह , शाम दो बार तीन दिन लेने से आराम मिलता है। ठंडा पानी और ठंडी चीजे लेना बंद कर दें ।

9)सर्दी खांसी और गले में खराश के लिए लहसुन:

लहसुन सर्दी-जुकाम से लड़ने में काफी मददगार होता है। लहसुन में एलिसिन नामक एक रसायण होता है, जो एंटी बैक्टेरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल होता है। लहसुन की पांच कलियों को घी में भुनकर खाए। ऐसा एक दो बार करने से जुकाम में आराम मिल जाता है। सर्दी जुकाम के संक्रमण को लहसुन तेजी से दूर करता है।

10)अदरक:

सर्दी और जुकाम में अदरक बहुत फायदेमंद होता है। अदरक एक एंटीबायोटिक की तरह काम करता है |इसमें विटामिन, प्रोटीन आदि मोजूद होते हैं।अगर किसी व्यक्ति को कफ वाली खांसी हो, तो उसे रात को सोते समय दूध में अदरक उबालकर पिलाएं। अदरक की चाय पीने से जुकाम में फायदा होता है। इसके अलावा अदरक के रस को शहद के साथ मिलाकर पीने से आराम मिलता है। गले की खराश और गले में इंफेक्शन हो तो अदरक का टुकड़ा मुंह में लेकर चूस ले | इससे बहुत फर्क होगा|

11)भाप लेना जरूरी:

अगर नाक बंद हैं, या बहुत अधिक बलगम आपको तकलीफ दे रहा हैं, तो उबलते पानी को बाल्टी अथवा किसी बड़े बर्तन में डालकर उसकी भाप लेने से तुरंत राहत मिलती हैं |इस पानी में आप विक्स या फिर भाप वाले कैप्सूल जो मार्केट में मिलते हैं, उसे पानी में डाल कर सर पर कोई टॉवल डाल कर अच्छी तरह  भाप लें और सो जाएं| यह उपाय बहुत ही ज्यादा कारगर है |4 से 5 दिन भाप लेने से आपको बहुत जल्दी सर्दी जुकाम से छुटकारा मिलेगा|

12)अलसी के बीज:

सामान्‍य सर्दी और खांसी को ठीक करने के लिए अलसी के बीज  एक प्रभावी उपाय हैं। इसके लिए आप थोड़े से अलसी के बीजों को पानी में उबालें जब तक की मिश्रण गाढ़ा ना हो जाये। जब अच्‍छी तरह से अलसी बीज उबल जाएं तो आप इसे ठंडा करके  इसमें नींबू का रस और शहद की कुछ बूंदे मिलाएं। इस मिश्रण को अच्‍छी तरह से मिलाने के बाद आप इसका सेवन कर सकते हैं। यह आपको सर्दी जुकाम से राहत दिलाने का सबसे अच्‍छा घरेलू उपाय है।

13)इलायची और कपूर:

इलायची न केवल बहुत अच्छा मसाला है ,बल्कि यह सर्दी और जुकाम से भी बचाव करता है। जुकाम होने पर इलायची को पीसकर रुमाल पर लगाकर सूंघने से सर्दी-जुकाम और खांसी ठीक हो जाती है। सर्दी से बचाव के लिए कपूर भी राहत पहुंचाता है। कपूर की एक टिकिया को रुमाल में लपेटकर बार-बार सूंघने से आराम मिलता है, और बंद नाक खुल जाती है। इसके अलावा कपूर सूंघने से ठंड भी दूर होती है।

14)तेल की मालिश:

सर्दी जुकाम होने पर तेल की मालिश भी बहुत फायदा पहुंचाती है |और अगर ना हो तब भी तेल की मालिश करना तो जरूरी है |आप  तेल की मालिश के लिए तिल का तेल, सरसों का तेल या फिर जैतून का तेल भी ले सकते हैं |मालिश से इम्युनिटी बढ़ती है |और हम  रोगों से मुक्त रहते हैं|

Review Summary
Review Date
Reviewed Item
Article
Rating
51star1star1star1star1star
पोस्ट शेयर करे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *